शरारती तत्वों की छेड़खानी के चलते पूर्व राज्य मंत्री स्व० नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति का अस्तित्व खतरे में..

शरारती तत्वों की छेड़खानी के चलते पूर्व राज्य मंत्री स्व० नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति का अस्तित्व खतरे में..
0 0
Read Time:4 Minute, 11 Second

पूर्व राज्य मंत्री स्व० नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति का अस्तित्व खतरे में..

     चमोली-पोखरी। पूर्व राज्य मंत्री स्व.नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति पर शरारती तत्वों द्वारा बार-बार छेड़खानी किए जाने पर जहां राजनीतिक माहौल गर्मा रहा है। वहीं भाजपा-कांग्रेस एक-दूसरे पर आरोप प्रत्यारोपों की राजनीति भी करने लगे हैं। इससे सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल उठने लगे है।

      पोखरी कस्बे में जिस जगह पर स्व.नरेंद्र सिंह भंडारी की मूर्ति स्थापित की गई है वहां नगर पंचायत द्वारा सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था न किए जाने पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। यहां स्टेडियम के पास स्व.भंडारी की मूर्ति के सामने ही मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट का कोर्ट, तहसील कार्यालय व जूनियर हाईस्कूल स्थापित है। जनपद चमोली के विकास पुरुष स्व. नरेन्द्र सिंह भंडारी ने अविभाजित उत्तर प्रदेश मे पर्वतीय विकास राज्य मंत्री के पद पर रहकर जनपद चमोली का चहुंमुखी विकास किया, जिससे उन्हे विकास पुरुष के नाम से जाना जाने लगा।
          सर्वप्रथम स्व.नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति हिमवंत कवि चन्द्रकुवंर बर्त्वाल शोध संस्थान के सचिव डा.योगेन्द्र सिंह बर्त्वाल ने डिग्री कालेज नागनाथ-पोखरी मे स्थापित की थी। तब डिग्री कॉलेज का नाम भी चन्द्रकुवंर बर्त्वाल के नाम पर रखा गया। मूर्ति स्थापित करने के कुछ समय बाद किसी बड़ह राजनीतिक साजिश के तहत मूर्ति को तुडवाया गया। इसमे एफआईआर भी दर्ज हुई, लेकिन राजनीतिक प्रभाव के आगे कार्यवाई असफल रहा।

          पोखरी मे नगर पंचायत गठन के बाद विशाल वार्ड के पार्षद जो कि जिला नियोजन समिति के सदस्य भी रहे विष्णु प्रसाद चमोला ने पुरातत्व विभाग को मूर्ति लगाने का प्रस्ताव दिया। जिला योजना से 14.30 लाख रुपए की राशि से स्टेडियम के पास भंडारी की मूर्ति स्थापित की गई। यहां पर अनेकों बार मूर्ति पर छेडछाड़ करते हुए कभी आँखों पर मास्क बांधा जाता है तो इस बार बाजार से स्याही खरीदकर मूर्ति की दोनों ऑखो मे डालकर महान पुरुष का अपमान किया गया है।

       पूर्व पार्षद विष्णु प्रसाद चमोला ने पुलिस अव्यवस्था व नगर पंचायत पर लापरवाही का आरोप लगाया है। उन्होने कहा कि नगर पंचायत यहां पर एक कैमरा लगाती तो शरारती तत्व पकड़ में आ जाते। उन्होने कहा कि विनायक धार तिराहे पर पोखरी-गोपेश्वर सड़क नरेन्द्र सिंह भंडारी के नाम से लगा बोर्ड था, वह भी गायब है। वही भाजपा नगर मंडल के अध्यक्ष वीरेंद्र पाल भंडारी ने कहा कि भाजपा सरकार मे लगाई गई स्व. नरेन्द्र सिंह भंडारी की मूर्ति की उपलब्धि को कांग्रेस पचा नहीं पा रही है। उन्होंने ऐसे तत्वों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की मांग की है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Read also x

error: Content is protected !!