गढ़वाल हिमालय के गाँव-गाँव जाकर इंजीनियर दे रहा है ‘स्वच्छता का संदेश’…. डॉ० दीपक कुँवर, चारधाम समाचार

गढ़वाल हिमालय के गाँव-गाँव जाकर इंजीनियर दे रहा है ‘स्वच्छता का संदेश’…. डॉ० दीपक कुँवर, चारधाम समाचार
0 0
Read Time:6 Minute, 20 Second

गढ़वाल हिमालय के गाँव-गाँव जाकर इंजीनियर दे रहा है ‘स्वच्छता का संदेश’….

स्वच्छता होगी तभी तो कुछ बात होगी।
स्वच्छ गाँव में यही गिनती खास होगी।।

                                     

                 02 अक्टूबर 2014 को ‘स्वच्छ भारत मिशन’ देशभर में व्यापक तौर पर राष्ट्रीय आन्दोलन के रूप में शुरू किया गया था। इस अभियान के अन्तर्गत 02 अक्टूबर 2019 तक स्वच्छ भारत की परिकल्पना को साकार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। कालान्तर में स्वच्छ भारत एक जन आन्दोलन का रूप ले चुका है, क्योंकि इस आन्दोलन को जनता का अपार समर्थन मिला है। देश के कौने-कौने से बड़ी संख्या में नागरिकों ने आगे आकर साफ-सुथरा भारत बनाने का प्रण किया है। ऐसे में गढ़वाल हिमालय के सीमांत गांव कोषा (हाल-मंगरोली), तहसील-जोशीमठ, जिला-चमोली से इंजीनियर भवान सिंह रावत ने जून 2017 में श्रीनगर गढ़वाल में स्थित मां धारी देवी मंदिर परिसर से ‘मेरा गांव स्वच्छ गांव’ नामक अभियान शुरू कर गढ़वाल हिमालय के गांवों को स्वच्छ बनाने का संकल्प लिया था, जिस संकल्प के फलस्व़रूप भवान सिंह रावत ने कालान्तर में इस अभियान के तहत चमोली जिले के तीन गांव- कोट कंडारा, देवलीबगड़, व तोलमा जबकि पौड़ी गढ़वाल के दो गांव- खाबु व खंडाह श्रीकोट को स्वच्छ बनाने का बीड़ा उठाया है।

           

इस प्रकार इ0 भवान सिंह रावत ‘मेरा गांव स्वच्छ गांव’ अभियान के तहत गढ़वाल हिमालय के लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक कर रहे हैं। इस अभियान के तहत भवान सिंह रावत लोगों को यह भी बता रहे हैं कि हम कैसे बिना पैसे खर्च किए पुराने चीजों का इस्तेमाल कर अपने इर्दगिर्द स्वच्छता बनाए रख सकते हैं। यह अभियान भवान सिंह रावत बिना सरकारी मदद या एनजीओ की सहायता के अपनी नौकरी के साथ-साथ गांव वालों के सहयोग से चला रहे हैं, जिस अभियान में गांव वाले प्रत्येक महीने में तय किये गये दो दिन एक निश्चित समय पर व एक निश्चित स्थान पर एकत्रित होकर एक-एक घण्टा अपने गांव को स्वच्छ बनाने का काम करते हैं। अतः भवान सिंह इस अभियान के माध्यम से गांव व देश को स्वच्छ व सुन्दर बनाने में अहम योगदान दे रहे हैं। भवान सिंह रावत वर्तमान में 330 मेगावाट जलविद्युत परियोजना, जी0 बी0 के0 कम्पनी- श्रीनगर गढ़वाल में उपप्रबन्धक (यांत्रिक) के पद पर कार्यरत्त हैं। इस प्रकार वर्तमान में पेशे से इंजीनियर भवान सिंह रावत ने गढ़वाल हिमालय के ग्रामीण क्षेत्रों मेें स्वच्छता को लेकर लोगों को जागरूक करने का संकल्प लिया है। अतः कालान्तर में गढ़वाल हिमालय के प्रत्येक गांव में भवान सिंह रावत द्वारा चलाये गये अभियान ‘मेरा गांव स्वच्छ गांव’ चर्चाओं में है और इस कारण से भवान सिंह रावत स्वच्छता के क्षेत्र में लोगों के लिए एक प्रेरणास्त्रोत का काम कर रहे हैं। यहां तक कि भवान सिंह रावत ने बहुत सी शादियों में वर-वधू को कूड़ादान भेंट कर लोगों को स्वच्छता के प्रति संदेश ज्ञापित किया है।

भवान सिंह रावत के अनुसार-  ‘मेरा गांव स्वच्छ गांव’ अभियान के आरम्भ के बाद गलियों की सफाई के लिए झाड़ू उठाना, कूड़े करकट की सफाई करना, स्वच्छता पर ध्यान केन्द्रित करना और अपने चारों ओर स्वास्थ्यवर्द्धक वातावरण बनाना अब धीरे-धीरे गांव के लोगों की आदत/प्रकृति बनती जा रही है। गांव के लोगों ने आगे आकर स्वच्छता के इस जन अभियान में हिस्सा लेकर अपना योगदान दिया मेरे लिए यह हर्ष का विषय है। अतः मैं उनका आभार प्रकट करता हूँ। एक स्वस्थ, सुखी और शान्तिपूर्ण जीवन जीने के लिए हम सभी को जीवन के हर पहलू में स्वच्छता व स्वच्छ आदतों का विकास करना चाहिए, क्योंकि स्वच्छता पवित्रता का प्रतीक है। यहां तक कि भारतीय संस्कृति में भी वर्षों से यह मान्यता है कि जहां सफाई होती है, वहां लक्ष्मी का वास होता है।

                               

                  प्रमोद खण्डूड़ी ने अपनी एक पोस्ट में लिखा है कि आज 10 नवम्बर को छठ पूजा कि छुट्टी पूजा पर भवान सिंह रावत सुबह प्रातःकाल 8ः00 बजे के लगभग धारीदेवी के मंदिर में कूड़ा एकत्रित करते हुए मिले। वे लिखते हैं कि भवान सिंह रावत छुट्टी के दिन घर से निकलकर मां धारीदेवी या किसी अन्य स्थान पर जाकर लोगों को स्वच्छता का संदेश देकर वहां कुछ घण्टे सफाई का काम करते हैं, जिस कारण से वे आज कई युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत बन गये हैं।

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Posts

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Read also x

error: Content is protected !!