राज्य निर्माण आंदोलनकारियों के साथ भाजपा सरकार ने किया छलावा। रिपोर्ट- सूरज नेगी

राज्य निर्माण आंदोलनकारियों के साथ भाजपा सरकार ने किया छलावा।  रिपोर्ट- सूरज नेगी
0 0
Read Time:4 Minute, 15 Second

राज्य निर्माण आंदोलनकारियों की अनदेखी पड़ेगी सरकार को भारी।।

                       ऊखीमठ। उत्तराखंड कांग्रेस के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता एवं वरिष्ठ राज्य आंदोलनकारी सूरज नेगी ने उत्तराखंड भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि- भाजपा सरकार ने शुरू से लेकर आज तक राज्य निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले आंदोलनकारियों को हाशिए पर रखा है। सरकार ने कभी भी राज्य आंदोलनकारियों को दी जाने वाली सुविधाओं को मजबूती से आगे नहीं बढ़ाया। आज भी राज्य आंदोलनकारियों को अपमान का घूंट पीना पड़ता है। नेगी ने कहा कि भाजपा सरकार के दौरान आंदोलनकारियों को 10 फीसद आरक्षण का मामला हो या जिन आंदोलनकारियों को कांग्रेस काल में राजकीय सेवाओं में समायोजित किया गया और आज न्यायालय द्वारा उनकी सेवा समाप्त करने के लिए लिए गए निर्णय के खिलाफ मजबूती से पैरवी करने का मसला हो या सभी आंदोलनकारियों को समान पेंशन दिए जाने का प्रकरण हो तथा राज्य स्थापना दिवस और अन्य राष्ट्रीय पर्व पर आंदोलनकारियों की भागीदारी सुनिश्चित करने का मामला हो हर समय सरकार द्वारा आंदोलनकारियों की अनदेखी की गई।
           नेगी ने कहा कि उत्तराखंड राज्य निर्माण के बाद नौकरसाहों और राजनेताओं के दिन जरूर बहुरे हों मगर राज्य आंदोलन में अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले आंदोलनकारियों को हर स्तर पर संघर्ष ही करना पड़ा कई आंदोलनकारी आज भी अपने को आंदोलनकारी घोषित करने को लेकर संघर्ष कर रहे हैं। राजनेताओं द्वारा शासन सत्ता मिलने के बाद आंदोलनकारियों के योगदान को भाषणों में तो खूब बखान किया जाता है, परंतु धरातल पर स्थिति यह है कि अफसरशाही के आगे सब बोने बन कर रह जाते हैं। उन्होंने कहा कि- भाजपा सरकार द्वारा आंदोलनकारी की पेंशन में सिर्फ आंशिक बढ़ोत्तरी की गई है। जबकि विधायक और अधिकारियों की सुविधा में प्रदेश का खजाना जमकर लुटाया जा रहा है। भ्रष्टाचार की गंगा उत्तराखंड में लगातार बह रही है। शराब माफिया भू- माफिया और खनन माफिया सरकार और अधिकारियों को चारों तरफ से घेरे हुए हैं। राज्य में बेरोजगारी से युवा त्राहिमाम कर रहे हैं।
        नेगी ने कहा कि- 7 दिसंबर को राज्य सरकार द्वारा गैरसैंण में शीतकालीन सत्र के पहले दिन ही राज्य निर्माण आंदोलनकारी उत्तराखंड के वरिष्ठ आंदोलनकारी व चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति के केंद्रीय मुख्य संरक्षक धीरेंद्र प्रताप के नेतृत्व में गैरसैंण में एक दिवसीय धरना देकर आंदोलनकारियों की मांगों पर सरकार के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराएंगे। उन्होंने सभी आंदोलनकारी मंचों से भी अपील की है की भाजपा सरकार के यह आखिरी सत्र के दौरान सभी आंदोलनकारी एकजुटता के साथ राज्य के मसलों व राज्य निर्माण आंदोलनकारियों की अनदेखी के खिलाफ गैरसैंण से संघर्ष का बिगुल फूकने के लिए एकजुटता के साथ तैयार रहें।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Read also x

error: Content is protected !!