15 नवम्बर 2021 को चमोली के स्वाड गाँव से शुरू हुई शहीद यात्रा का आज गुनियाला गाँव में हुआ समापन…..

15 नवम्बर 2021 को चमोली के स्वाड गाँव से शुरू हुई शहीद यात्रा का आज गुनियाला गाँव में हुआ समापन…..
0 0
Read Time:2 Minute, 48 Second

       देहरादून। आज बुधवार को सैन्यधाम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शहीद परिजनों का सम्मान किया। इस दौरान उनके साथ सीएम पुष्कर सिंह धामी, केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट, विस अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत और टिहरी सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह भी मौजूद रहीं।

       रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि- प्रधानमंत्री मोदी ने आज से चार साल पहले कहा था कि उत्तराखंड में चार धाम हैं। एक पांचवा धाम सैन्य धाम होना चाहिए। यह जो काम शुरू हुआ है, जल्दी से जल्दी पूरा होना चाहिए। उत्तराखंड वीरों की धरती है। यह शौर्य पराक्रम की भूमि है।

       15 नवंबर 2021 को चमोली के स्वाड गांव से शहीद सम्मान यात्रा शुरू की गई थी, जिसका आज देहरादून के गुनियाल गांव में समापन हुआ। आज रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने देहरादून के 204 शहीद परिजनों को सम्मानित किया।
        मीडिया से बातचीत में सैनिक कल्याण मंत्री ने कहा कि- सैन्यधाम के रूप में उत्तराखंड का पांचवां धाम देहरादून के पुरुकुल में विकसित किया जाएगा, जिसमें प्रदेश के शहीदों की यादों को संजोकर रखा जाएगा। सैन्यधाम के लिए 1734 शहीदों के आंगन की मिट्टी को लाया गया है, जिसे अमर जवान ज्योति की बुनियाद में लगाया जाएगा। 63 करोड़ की लागत से बनने वाले सैन्यधाम में शहीद जसवंत सिंह और हरभजन सिंह के मंदिर बनाए जाएंगे।

        शहीद सम्मान यात्रा के जरिये 95 ब्लॉकों के 1734 शहीद परिवारों से संपर्क कर उनके आंगन की मिट्टी को पवित्र कलश में यहां लाया गया है। मंत्री ने कहा कि 50 बीघा में बनने वाला धाम दो साल के भीतर बनकर तैयार हो जाएगा। यहां भी अखंड ज्योति प्रज्वलत रहेगी। इस सैन्य धाम के मुख्य प्रवेश द्वार का नाम देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत के नाम पर रखा जायेगा।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Read also x

error: Content is protected !!