चारधाम यात्रा खोलने की मांग को लेकर बदरीश संघर्ष समिति का बड़ा निर्णय, आमरण-अनशन और आत्मदाह की चेतावनी! – चारधाम समाचार

चारधाम यात्रा खोलने की मांग को लेकर बदरीश संघर्ष समिति का बड़ा निर्णय, आमरण-अनशन और आत्मदाह की चेतावनी! – चारधाम समाचार
0 0
Read Time:2 Minute, 46 Second

बदरीनाथ : चारधाम यात्रा जल्द खोलने को लेकर बदरीश संघर्ष समिति का बड़ा निर्णय आमरण अनशन और आत्म दाह की दी चेतावनी।
चारधाम यात्रा जल्द खोलने की मांग को लेकर बदरीनाथ धाम में बद्रीश संघर्ष समिति के बैनर तले चल रहे जन आंदोलन का आज 6 वाँ दिन है। लेकिन सरकार की और से आंदोलनकारियों की कोई सुध नही लेने पर अब बद्रीश संघर्ष समिति के अध्यक्ष ने प्रशासन और सरकार पर दबाव बनाने के लिए क्रमिक अनशन के बाद आमरण अनशन और आत्म दाह तक करने की चेतावनी दी है।

गौरतलब है कि बदरीपुरी के स्थानीय लोगों,व्यापारियों,तीर्थ पुरोहितों, हक -हकूकधारियों, स्थानीय पर्यटन कारोबारियों द्वारा यात्रा खोलने को लेकर लम्बे समय से लगातार सरकार पर दबाव बनाने के लिए बद्रीनाथ साकेत तिराहे पर आक्रोश रैली,धरना प्रदर्शन और अनशन कर रही है। सबका कहना है की बद्रीनाथ धाम में हम सबका व्यापार कारोबार होटल, ढाबा, दुकाने सब ठप्प पड़ी हुई है। यात्रा नही खुलने से बदरीपुरी में भुखमरी फैल गई है ऐसे में हमें आमरण अनशन क्या आत्म दाह जैसा कदम उठाना पड़े तो वो भी करेंगे ! आंदोलनकारियों को हौसला बढ़ाते हुए समिति से जुड़े पांडुकेश्वर् के युवा व्यवसाई पर्मजीत भंडारी ने कहा की हम लोग यहाँ रण भूमि में नही बैठे हैं, हम लोग बद्री पुरी के तपोधाम में सरकार को जगाने के लिए तप में बैठे हैं। जिस दिन बद्रीनाथ धाम की परम्परा टूटने लगेगी और हमारे हक हकूक पर छेड़खानी ज्यादा होगी और हमारे ईस्ट देव का अपमान होने लगे तो उस दिन हम लोग तपोभूमि से उठ कर रणभूमि में उतरने को मजबूर हो जायेंगे। क्रमिक अनशन पर बैठने वालों में बद्रीनाथ ब्रह्म कपाल तीर्थ पुरोहित समाज के अध्यक्ष उमेश सती,प्रमोद हटवाल,कोशलेस भंडारी,संजय हटवाल,जसवीर मेहता और धीरज नेगी बैठे है जिन्हे बद्री पुरी के सभी लोगों का अपार समर्थन मिला हुआ है।

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Related Posts

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Read also x

error: Content is protected !!