ध्यान बदरी एवं पंचम केदार कल्पेश्वर महादेव को जोड़ने वाली सड़क क्षतिग्रस्त…रिपोर्ट- रघुबीर सिंह नेगी

ध्यान बदरी एवं पंचम केदार कल्पेश्वर महादेव को जोड़ने वाली सड़क क्षतिग्रस्त…रिपोर्ट- रघुबीर सिंह नेगी
0 0
Read Time:3 Minute, 57 Second

         उर्गम। जोशीमठ पंचम केदार कल्पेश्वर महादेव एवं ध्यानबदरी उर्गम घाटी को जोड़ने वाली सड़क हेलंग उर्गम मोटर मार्ग अचानक चट्टान दरकने के कारण बुरी तरह से धंसकर बिखर गयी। 4 किलोमीटर के मध्य टूटने के कारण यातायात बाधित हो गया है, जिस कारण पंचम केदार कल्पेश्वर महादेव के दर्शन आये ढाई सौ से अधिक पर्यटन यहां फंस गये हैं। हेलंग उर्गम मोटर मार्ग सड़क 20 से अधिक गांव की जीवन रेखा लाइफ लाइन मानी जाती है, जिसमें पंच केदार के कल्पेश्वर पंच बद्री के ध्यान बदरी, डुमक, कलगोठ, किमाणा पल्ला -जखोला, उर्गम ल्याँरी, थैणा, पंचधारा, सलना, तल्ला बडगिण्डा, गीरा, बांसा, भर्की भेंटा पिलखी ग्वाणा अरोसी आदि गांव इस सड़क जुडे है मोटर मार्ग के बंद होने से लोगों को मूलभूत सामाग्री लाने में भी काफी परेशानी हो रही है। सरकार के द्वारा सड़क ठीक करने के लिए शीघ्र उपाय नहीं किया गया तो यहां पर आने वाले विधानसभा चुनाव पर भी प्रभाव पड़ सकता है।

             इस इलाके में 8 पोलिंग बूथ यहां है अधिकांश पोलिंग पार्टियां यहाँ से आवाजाही करते हैं इस सम्बन्ध में देवग्राम के प्रधान देवेंद्र सिंह रावत ने आपदा कंट्रोल रूम चमोली एवं तहसीलदार जोशीमठ प्रदीप नेगी से भी इस सड़क के संबंध में आवश्यक सूचना फोन के माध्यम से दे दी गई है। क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने शीघ्र ही सड़क ठीक करने की मांग की है। सड़क बंद होने से हेंलग डुमक मोटर भेंटा भरकी मोटर मार्ग का कार्य निर्माणाधीन है इसी मोटर मार्ग से निर्माणाधीन सड़क के लिए पेट्रोल डीजल की आपूर्ति भी होती है मोटर मार्ग के बंद होने से इस कार्य को भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। हेलंग उर्गम मोटर मार्ग का टूटना कोई नहीं बात नहीं है पीएमजीएसवाई के लिए उर्गम घाटी की सड़क सोने के अंडे देने वाली मुर्गी के समान है। अधिकांश जगह हादसों को दावत दे रही है जिसमें जान जोखिम में डालकर आवाजाही होती है।

         राज्य गठन के 21 साल बीतने के बाद भी हालत नहीं सुधरी भले राज्य में कांग्रेस बीजेपी दोनों दलों की सरकारें रही। इस सड़क पर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी सफर किया राज्य के प्रमुख सचिवों समेत दर्जनों जिला अधिकारी उपजिलाधिकारी आये फिर भी सड़क नहीं सुधरी उत्तराखंड सरकार ने उर्गमघाटी को पर्यटन सर्किट से जरूर जोडा है पर पर्यटक सड़क की दशा देखकर घाटी में आने से कतरा रहे हैं। उर्गम घाटी के विकास में हर समय बाधा डालती है हेलंग उर्गम मोटर मार्ग सड़क सुधरती है तो पर्यटन खुद ही सुधर जायेगा।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Read also x

error: Content is protected !!