स्वयंभू लिंग सहित तुंगनाथ धाम में विराजमान अन्य देवी – देवताओं को तिलक अर्पित…रिपोर्ट :- लक्ष्मण नेगी

स्वयंभू लिंग सहित तुंगनाथ धाम में विराजमान अन्य देवी – देवताओं को तिलक अर्पित…रिपोर्ट :- लक्ष्मण नेगी
0 0
Read Time:4 Minute, 38 Second

स्वयंभू लिंग सहित तुंगनाथ धाम में विराजमान अन्य देवी – देवताओं को तिलक अर्पित…रिपोर्ट :- लक्ष्मण नेगी

       ऊखीमठ : तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ के धाम में त्रीस जूला महायज्ञ समिति चन्द्र शिला के तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय महायज्ञ का पूर्णाहुति के साथ समापन हो गया है। महायज्ञ के समापन अवसर पर सैकड़ों भक्तों ने तुंगनाथ धाम पहुंचकर पुण्य अर्जित किया। तीन दिवसीय महायज्ञ के आयोजन से तुंगनाथ धाम सहित तुंगनाथ घाटी का वातावरण भक्तिमय बना रहा।

बुधवार को ब्रह्म बेला पर विद्वान आचार्यों ने पंचाग पूजन के तहत गणेश, लक्ष्मी, पृथ्वी, कुबेर, भगवान विष्णु, भगवान तुंगनाथ सहित तैतीस कोटि देवी – देवताओं का आवाह्न कर विश्व समृद्धि की कामना कर आरती उतारी। ठीक दस बजे से महायज्ञ का शुभारंभ हुआ तथा ब्राह्मणों ने वेद ऋचाओं के साथ हवन कुण्ड में जौ, तिलहन, जटामांसी, चन्दन, पुष्प, अक्षत्रों सहित अनेक प्रकार की पूजार्थ सामाग्रियो की आहूतियां डालकर कर विश्व समृद्धि व क्षेत्र के खुशहाली की कामना की। दोपहर 12 बजे विद्वान आचार्यों ने कई कुन्तल जौ, तिलहन तथा घी की विशाल आहूतियां हवन कुण्ड में डाली तो कई देवी – देवता नर रूप में अवतरित हुए तथा हवन कुण्ड की परिक्रमा कर भक्तों को आशीष किया। हवन कुण्ड में विशाल आहूतियां डालते ही तुंगनाथ धाम का वातावरण भगवान तुंगनाथ के जयकारों से गुजायमान हो उठा। तीन दिवसीय महायज्ञ की पूर्णाहुति के बाद सर्वप्रथम भगवान तुंगनाथ के स्वयंभू लिंग सहित तुंगनाथ धाम में विराजमान अन्य देवी – देवताओं को तिलक अर्पित किया गया।

तुंगनाथ दिवारा यात्रा समिति अध्यक्ष भूपेन्द्र मैठाणी ने बताया कि प्रथम चरण में भगवान तुंगनाथ की दिवारा यात्रा द्वारा क्यूजा घाटी, मोहनखाल, पोखरी व हापला घाटियों का भ्रमण कर श्रद्धालुओं को आशीष दिया गया तथा दूसरे चरण में दिवारा यात्रा द्वारा मदमहेश्वर, कालीमठ घाटियों का भ्रमण किया गया तथा तीसरे चरण में शीतकालीन गद्दी स्थल मक्कूमठ में 11 दिवसीय महायज्ञ का आयोजन किया गया तथा चौथे चरण में तुंगनाथ धाम में तीन दिवसीय महायज्ञ का समापन हो गया है तथा पांचवें चरण में शाही भोज के साथ दिवारा यात्रा का समापन होगा। तीस जूला महायज्ञ समिति अध्यक्ष गोपाल सिंह रमोला ने महायज्ञ के निर्विघ्न समपन्न होने पर महायज्ञ समिति के पदाधिकारियों, मक्कू गाँव के विद्वान आचार्यों, जनप्रतिनिधियों व आम जनता का आभार व्यक्त किया।

इस मौके पर मठापति रामप्रसाद मैठाणी, चन्द्र प्रकाश मैठाणी, प्रभु दत्त किमोठी , कथावाचक लम्बोदर प्रसाद मैठाणी, मन्दिर समिति यज्ञ प्रभारी प्रकाश पुरोहित, प्रबन्धक बलवीर नेगी, महायज्ञ समिति उपाध्यक्ष तेज राम भटट्, कोषाध्यक्ष त्रिलोक सिंह नेगी, गजेन्द्र सिंह, सचिव त्रिलोक सिंह बर्त्वाल, आशीष मैठाणी, गीता राम मैठाणी, सन्दीप बर्त्वाल सहित त्रीस जूला महायज्ञ समिति के पदाधिकारी, सदस्य, विद्वान आचार्य व दोनों क्षेत्रों के जनप्रतिनिधि व सैकड़ों श्रद्धालु मौजूद रहे।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Read also x

error: Content is protected !!