“घटती बेटियां, बढ़ता असंतुलन” विषय पर स्वास्थ्य विभाग चमोली द्वारा किया गया एक गोष्ठी का आयोजन..

“घटती बेटियां, बढ़ता असंतुलन” विषय पर स्वास्थ्य विभाग चमोली द्वारा किया गया एक गोष्ठी का आयोजन..
0 0
Read Time:2 Minute, 32 Second

“घटती बेटियां, बढ़ता असंतुलन” विषय पर स्वास्थ्य विभाग चमोली द्वारा किया गया एक गोष्ठी का आयोजन..

            गोपेश्वर। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर स्वास्थ्य विभाग चमोली की ओर से एक जनजागरूकता कार्यक्रम, विषय- “घटती बेटियां, बढ़ता असंतुलन” पर गोष्ठी का आयोजन किया गया।
           गोष्ठी का आयोजन करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी, डॉक्टर एस0पी0 कुडियाल (वरिष्ठ रेडियोलॉजिस्ट) ने बताया कि गर्वस्थ शिशु का लिंग परीक्षण करना अथवा करवाना इसके लिए सहयोग देना व प्रचार करना कानूनी अपराध है। यदि जो लोग समाज में इस तरह के कृत्य करते है। उन्हें कानूनन तीन से पांच वर्ष तक का कारावास एवं दस हजार रु तक का जुर्माना हो सकता है। हमे अपने समाज में सामाजिक असंतुलन को सुधारने हेतु घटती हुई बेटियों की संख्या को बढ़ाने हेतु समाज के सभी प्रतिष्ठित व्यक्तियों का सहयोग लाभकारी साबित होगा।


          गोष्ठी में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, डॉक्टर एम0एस0 खाती ने बताया कि बेहतर भविष्य के लिए बालक और बालिकाओं का आज से ही लैंगिक समानता संतुलित अवस्था में होना चाहिए। जनपद में नेशनल फैमली हेल्थ सर्वे 2019 -2020 के अनुसार 0 से 5 वर्ष के उम्र के 1000 बच्चों पर 1023 बालिकाओं का अनुपात है। 

                कार्यक्रम में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर उमा रावत,डॉक्टर कुसुम पंखोली, रचना, मंजू रानी रावत, विमला देवी, शैली यादव,चंद्रकला, रिंकी, शोभा रावत, लक्ष्मी बोरा इत्यादि को सम्मानित किया गया।


        इस कार्यक्रम में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी वी0पी0 सिंह, महेश देवराड़ी, विपिन कुमार, उदय सिंह, नवीन, राजवीर, अजय, अर्जुन, प्रवीण, अनूप, रोहित, इत्यादि मौजूद रहे।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Read also x

error: Content is protected !!